Tomato increase quality of People fertility

नई दिल्ली: जैसा की आप सभी को पता है. आज कल लोग स्पर्म की क्वांटिटी ही नहीं क्वालिटी को बढ़ाने के लिए तरह - तरह के इलाज व् दवाइयों का सहारा ले रहे हैं. लेकिन आपको शायद नहीं पता होगा कि एक टमाटर भी आपकी स्पर्म क्वालिटी को और भी बेहतर कर सकता है. यह दावा कुछ ही साल पहले हुए एक शोध में किया है. इस रिसर्च पाया कि टमाटर में लाइकोपीन नाम का पोषक एलिमेंट पाया जाता है. जो पुरुषों में प्रजनन संबंधी प्रॉब्लम्स से निपटने में हेल्प कर सकता है. और इसी लाइकोपीन की वजह से ही टमाटर का रंग भी लाल होता है.



रिसर्च में यह भी देखा गया कि जिन स्व्स्थ पुरुषों ने एक दिन में ही दो बड़े चम्मच के बराबर यदि टमाटर प्यूरी का सेवन किया. उनमें स्पर्म की क्वालिटी काफी इजाफा हुवा । . बांझपन के भी 40 फीसदी से भी अधिक मामले स्पर्म की खराब क्वालिटी की वजह से ही होते हैं.

कितने लोगो पर की गई रिसर्च / Tomato increase quality of People fertility

शेफील्ड यूनिवर्सिटी की एक टीम ने लगभग 60 लोगों पर यह अध्ययन किया. इस अध्ययन में 19 से 30 साल की उम्र के लोगों या यु कहे युवाओ को भी शामिल किया गया था. लगभग 12 हफ्ते के परीक्षण के दौरान आधे लोगो ने 14 MG लेक्टोलाइकोपीन का यूज किया. ये दवा कैम्ब्रिज न्यूट्रास्युटिकल्स लिमिटेड के द्वारा बनाई गई थी. इस दवा में टमाटर के तत्व थे. वहीं, आधे लोगो ने प्लेसबो लिया. शोधकर्ताओं ने परीक्षण के पहले और बाद लोगो के स्पर्म सैंपल्स लिए. इसके बाद लैक्टोलाइकोपीन लेने वाले लोगो में 40 फीसदी ज्यादा और अच्छे क्वालिटी के स्पर्म मिले.


Tomato increase quality of People fertility
शेफील्ड यूनिवर्सिटी के एलन पेसी हेड प्रोफेसर ने बताया. कि, ‘उन्हें वास्तव में ये उम्मीद नहीं थी. कि इस शोध में टैबलेट व् प्लेसबो लेने वाले लोगो के बीच स्पर्म की क्वालिटी में कोई अंतर देखने को मिलेगा. लेकिन जब उन्होंने रिसर्च किया व् इसके रिजल्ट्स को डिकोड किया तो वो भौचक्के रह गए. लोगो के स्पर्म के आकार व् क्वालिटी में स्तब्ध कर देने वाला सुधार देखा गया. पेसी का यहमानना है कि टमाटर में पाए जाने वाले इस तत्व लाइकोपीन के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण लोगो के स्पर्म को डेमेज होने से रोक सकते है.

रिसर्च टीम ने जो बात कही

इस टीम का यह कहना है. कि इनकी अगली रिसर्च इस बात को फोकस में रखकर की जाएगी कि क्या इस सप्लीमेंट फर्टिलिटी ट्रीटमेंट के काम आ सकेगा. जिससे उन सभी लोगो की समस्या दूर होगी. जो बांझपन की वजह से संतान के सुख को नहीं भोग पाते।

Disclaimer: प्रिय पाठको , इस पोस्ट में दी गयी जानकारी सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए है. यदि आप भी इस प्रकार की समस्या से परेशान हैं तो आपको इस इनफार्मेशन पर अमल करने से पहले आपको अपने डॉक्टर की राय रूर लेनी चाहिए.


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ